Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

29.7.17

FIR against Manoj Gaur and other officials of Jaypee Group





दूरदर्शन केंद्र जयपुर से आठ कैजुअल कर्मियों को निकाला गया




लाइव टुडे चैनल के मालिक और प्रबंधन की दादागिरी


25.7.17

28 सांसदों ने की सुदर्शन न्यूज चैनल की शिकायत, राज्यसभा ने भेजा नोटिस





कवि अजितकुमार को संभावना की श्रद्धांजलि



चित्तौड़गढ़ । सुप्रसिद्ध हिंदी कवि और साहित्यकार अजितकुमार के निधन पर संभावना संस्थान ने शोक व्यक्त किया है। संस्थान की एक बैठक में अध्यक्ष डॉ के सी शर्मा ने कहा कि पिछली पीढ़ी के बड़े हिंदी साहित्यकार का निधन दुखद है। अजितकुमार ऐसे लेखक थे जिन्हें बचपन में सूर्यकांत त्रिपाठी निराला, महादेवी वर्मा और सुमित्रानन्दन पंत जैसे महान लेखकों का सान्निध्य मिला था। डॉ कनक जैन ने कहा कि हिंदी जगत उन्हें डॉ हरिवंश राय बच्चन के सबसे योग्य शिष्य के रूप में भी जानता है।

गूगल ने YouTube Video Editor और YouTube Photo Slideshows को गुडबाय कहा




24.7.17

ब्राडकास्टर उदय शंकर के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा, बिल्डर अनिल शर्मा की कंपनी का आफिस सीज

उदय शंकर
अनिल शर्मा

संदीप श्रीवास्तव पत्रिका टीवी छोड़कर लाइव टुडे चैनल से जुड़े


'गौ आतंकी' शीर्षक से प्रकाशित रिपोर्ट से नाराज विहिप ने इंडिया टुडे ग्रुप को भिजवाया लीगल नोटिस






चीनी सामान के प्रति हमारी भक्‍ति?

डॉ. मयंक चतुर्वेदी
इसे लालच की कौन सी पराकाष्‍ठा माना जाए ?  कुछ समझ नहीं आता । चीनी सामान के प्रति हमारी भक्‍ति किस स्‍तर तक है, इसका एक बड़ा उदाहरण जबलपुर में बनी बोफोर्स तोप के स्वदेशी संस्‍करण धनुष में सीधेतौर पर देखने को मिला है। जिसमें कि देश के साथ सुरक्षा के स्‍तर पर भी कर्तव्‍यनिष्‍ठ स्‍वदेशवासियों ने गंभीरता से विचार नहीं किया। लालच की यह पराकाष्‍ठा निश्‍चित ही अशोभनीय और देशद्रोह जैसा कर्म तो है ही, किंतु इसके साथ यह इस विचार के लिए भी प्रेरित करता है कि आखिर हम भारतीयों को हो क्‍या गया है ?  जिनके लिए जननी और जन्‍म भूमि स्‍वर्ग से भी महान रही है और है। (रावण के निधन के बाद श्रीराम लक्ष्मण से कहते हैं: अपि स्वर्णमयी लंका मे लक्ष्मण न रोचते, जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी । वाल्मीकि व अध्यात्मरामायण में तो नहीं, किंतु अन्‍यत्र किसी अन्‍य रामायण में उल्‍लेखित)

23.7.17

दैनिक जागरण फर्जी खबर छापने के बाद थूक कर चाटता है





हिमाचल प्रदेश वर्किंग जर्नलिस्‍टस यूनियन गठित, निर्णायक जंग की तैयारी

मजीठिया वेजबोर्ड अवार्ड को लागू करवाने और प्रबंधन के उत्‍पीड़न के खिलाफ पिछले दिन वर्षों से लड़ाई लड़ रहे वरिष्‍ठ पत्रकार रविंद्र अग्रवाल के प्रयासों से हिमाचल प्रदेश में पहली बार पत्रकार एवं गैर-पत्रकार अखबार कर्मियों की यूनियन का गठन कर लिया गया है। हिमाचल के कई पत्रकार और गैरपत्रकार साथी इस यूनियन के सदस्‍य बन चुके हैं और अभी भी सदस्‍यता अभियान जारी है। एक जून को इस हिमाचल प्रदेश वर्किंग जर्नलिस्‍टस यूनियन(एचपीडब्‍ल्‍यूजेयू) के नाम से गठित इस कर्मचारी यूनियन में पत्रकार और गैरपत्रकार दोनों ही श्रेणियों के अखबार कर्मियों को शामिल किया जाएगा। नियमित और संविदा/अनुबंध कर्मी भी यूनियन के सदस्‍य बन सकते हैं, बशर्ते इनका पेशा सिर्फ अखबार के कार्य से ही जुड़ा होना चाहिए।



वसूलीबाज पत्रकारों के खिलाफ महिला प्रधान ने की थाने में शिकायत


पत्रकारों के हाथों से खाना छिनवा लिया योगी सरकार ने!





न्यूज इंडिया ट्रस्ट में वैकेंसी, करें अप्लाई