Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

28.5.17

झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास का आम जनता के बीच अलोकप्रिय होने के प्रमुख कारण...

1. राज्य में कनफूंकवों के शासन की शुरुआत।
2. रघुवर शासन में लड़कियों और महिलाओं पर अत्याचार का बढ़ना, स्वयं जहां मुख्यमंत्री जन संवाद केन्द्र चलता है, वहां की लड़कियों ने राज्य महिला आयोग को पत्र लिखा कि यहां कार्यरत महिला संवादकर्मियों के साथ बराबर दुर्व्यवहार होता है। इन संवादकर्मियों को न्याय दिलाने के बजाय, इस पूरे मामले को ही मुख्यमंत्री जन संवाद केन्द्र चलानेवाले लोगों ने, मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ मिलकर उन लड़कियों का आवाज सदा के लिए दबा दिया। यहां तक कि राज्य महिला आयोग ने उन लड़कियों के द्वारा भेजे गये पत्र का संज्ञान तक नहीं लिया। यहीं नहीं ये लड़कियां सीएमओ तक गयी, सब ने कहां न्याय मिलेगा, पर न्याय तो दूर, उन लड़कियों की आवाज ही सदा के लिए दबा दी गयी।

नेशनल वायस चैनल के पत्रकार से मारपीट करना दरोगा को पड़ा महंगा

video

पत्रकार सम्मेलन में बैग के लिए हो गई पत्रकारों में छीना-झपटी




संबंधित खबरों के लिए नीचे दिए शीर्षकों पर क्लिक करें...

xxx

शानदार रिपोर्टिंग के लिए राजू मिश्र मुंबई में सम्मानित किए जाएंगे

संबंधित खबर...

27.5.17

विवादित जमीन पर न्यूज चैनल का कब्जा



तीस मई को आजमगढ़ में पत्रकारिता पर सेमिनार, यशवंत होंगे मुख्य वक्ता


जो ब्यूरो की स्पेलिंग तक ठीक से नहीं लिख पाते, वो पत्रकार बने बैठे हैं


बागी विरासत को याद करने के लिए क्रांतितीर्थ पचनदा के तट पर लगी जनसंसद



ये ठेला वाला सबसे ज्यादा नगर निगम कर्मियों की गुंडई से डरता है


अंबिका प्रिंटर्स में लगी आग





कॉन्फेशन ऑफ ए ठग

अनेहस शाश्वत का लिखा पढ़ने के लिए नीचे दिए शीर्षक पर क्लिक करें....

...तो इस वजह से अपने चैनल का नाम बदलने को मजबूर हुआ जी ग्रुप!


25.5.17

विनोद कापड़ी आ गए औकात में


बात बात में रिपोर्ट लिखाने और जेल भिजवाने की धमकी देने वाले विनोद कापड़ी और उनसे आधी उम्र की उनकी दूसरी पत्नी साक्षी जोशी को अपनी औकात अच्च्छी तरह से पता चल गई. ये बेचारे कुछ नहीं कर पा रहे हैं. ये प्रधानमंत्री से गुहार लगा रहे हैं, ''हे पीएम जी देख लो, तुम्हारे आदमी हमको कितना गंदा गंदा लिख के सबके सामने गरिया रहे हैं.''